अगरबत्ती का व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Agarbati Business in Hindi

Contents hide

अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें

AGARBATI BUSINESS. अगरबत्ती, जिसे अगरबत्ती के रूप में भी जाना जाता है, का उपयोग विभिन्न सामाजिक और धार्मिक अवसरों की सेवा के लिए सुगंध की छड़ियों के रूप में किया जाता है। अगरबत्ती सुगंधित पाउडर से बनी होती है जो खुशबू बढ़ाने वाले फ्यूमिगेंट के रूप में काम करती है और इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं। अगरबत्ती एक व्यवसाय चलाना एक व्यवसाय के लिए एक उत्कृष्ट लघु-स्तरीय विचार है जिसे न्यूनतम खर्च के साथ शुरू किया जा सकता है और मुनाफा बहुत अधिक है। अगरबत्ती हमारे दैनिक अनुष्ठानों में एक प्रमुख तत्व है। धूप एक और नाम है जिसका इस्तेमाल अगरबत्ती का वर्णन करने के लिए किया जाता है।AGARBATI BUSINESS

अगरबत्ती बाजार में विभिन्न प्रकार के इत्र के साथ विभिन्न आकारों और रंगों में आती है। अगरबत्ती गुणवत्ता और लंबाई की एक किस्म है, जो 5 मिनट और दो घंटे के बीच जलने के समय को बदल सकती है। अगरबत्ती एक लाभदायक व्यवसाय है क्योंकि मांग हर समय रहती है। आपके ब्रांड का विकास अगरबत्ती व्यावसायिक इकाइयों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विभिन्न प्रकार की मशीनों के साथ अगरबत्ती बनाना बेहद सरल है। इसे मशीनों का उपयोग करके या मैन्युअल रूप से भी बनाया जाता है।AGARBATI BUSINESS

Mushroom ki kheti kaise karen: खेत से बाजार ले जाने तक की जानकारी

इस लेख में, हम आपको विभिन्न विषयों पर जानकारी प्रदान करेंगे जैसे,

मैं अगरबत्ती के लिए एक निर्माण इकाई कैसे शुरू करूं?

मैं अगरबत्ती बनाने की प्रक्रिया कैसे करूं?

मैं प्रयुक्त सामग्री और उपयोग की जाने वाली मशीनरी का निर्धारण कैसे करूं?

अगरबत्ती की दो किस्में व्यापक रूप से उपलब्ध हैं Two types

सुगंधित अगरबत्ती Perfumed agarbatti

चारकोल – पाउडर की जरूरत गिगाटू, सफेद चिप्स। अगरबत्ती का पेस्ट बनाने के लिए इन्हें मिलाया जाता है। फिर, मिश्रण को एक अगरबत्ती मशीन में डाल दिया जाता है। कच्ची छड़ियों को इत्र में डुबोया जाता है जिसमें सफेद या डायथाइल-फ्थेलेट शामिल हो सकते हैं। फिर डंडियों को बैग में पैक करने से पहले सुखाया जाता है।AGARBATI BUSINESS

Gulab ki kheti in hindi: गुलाब की खेती करने से लेकर बाजार ले जाने तक

मसाला अगरबत्ती Masala agarbatti

मसाला अगरबत्ती निम्नलिखित अवयवों से बनी है: सफेद चिप्स 40%, गिगाटू 20 प्रतिशत, चारकोल 20 प्रतिशत सुगंधित आवश्यक तेल और अन्य घटक। गुलाब, गेंदा, लैवेंडर चंदन, चमेली, चंदन, गुलाब, मोगरा और कमल जैसे विभिन्न सुगंध उपलब्ध हैं।AGARBATI BUSINESS

अगरबत्ती बनाने के लिए कच्चा माल Raw materials

कच्चा माल स्थानीय बाजार में आसानी से उपलब्ध है और ऑनलाइन भी उपलब्ध है। उनकी लागत कम है। अगरबत्ती बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल में निम्न शामिल हैं:

ओ बांस की छड़ें विभिन्न आकारों के अनुसार, बाजार में आसानी से उपलब्ध विभिन्न प्रकार की छड़ें हैं। लाठी की कीमत लगभग 110-125 किलोग्राम है।

ओ चारकोल पाउडर चारकोल पाउडर की कीमत लगभग 10 रुपये प्रति किलोग्राम है।

ओ गोंद पाउडर – गोंद पाउडर की कीमत लगभग 80 रुपये प्रति किलो है।

ओ जिगत पाउडर की कीमतें 50-70 रुपये प्रति किलोग्राम तक होती हैं।

हे नरगिस पाउडर

हे लकड़ी धूप पाउडर

हे जोस पाउडर

ओ आवश्यक तेल और अन्य सुगंधित पदार्थ सुगंध का उपयोग धूप की छड़ियों में गंध पैदा करने के लिए किया जाता है। विभिन्न सुगंधित अगरबत्ती विभिन्न सुगंधों में उपलब्ध हैं। 1 किलो के अगरबत्ती परफ्यूम की कीमत करीब 400 रुपये है।AGARBATI BUSINESS

मेडिकल स्टोर कैसे खोले पूरा प्लान समझे आसान तरीके से

PACKING

ओ पैकेजिंग सामग्री सुरक्षित पैकेजिंग सुनिश्चित करने के लिए सावधानी बरतें क्योंकि गंध को पैकेजिंग से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। पैकेजिंग को दो तरीकों से पूरा किया जा सकता है: एक हाथ से गिनती पैकिंग का उपयोग कर रहा है, और दूसरा मशीन गिनती द्वारा है। एक पैकेट की कीमत 2 रुपये से 10 रुपये तक होगी, जबकि बक्से की कीमत 5-20 रुपये के बीच होगी। O Diluents, जैसे DEPare 125 रुपये प्रति लीटर की कीमत पर उपलब्ध हैं।AGARBATI BUSINESS

ओ रैपिंग पेपर।

ओ कागज के डिब्बों।

ओ इनर पेपर बैग।

अगरबत्ती व्यवसाय का दायरा Scope

अगरबत्ती की विविध किस्मों का बहुत बड़ा बाजार है। त्योहारों के समय अगरबत्ती की मांग अधिक होती है। भारत अगरबत्ती के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक है, और दुनिया को आपूर्ति भी करता है। यह भारत, नेपाल, अमेरिका, ब्रिटेन, श्रीलंका और बर्मा सहित विभिन्न देशों में दुनिया भर के कई लोगों द्वारा उपयोग किया जाता है। 100 से अधिक देश विभिन्न कारणों से अगरबत्ती का उपयोग करते हैं। अगरबत्ती की उच्च मांग के कारण निर्यात स्थापित करना आसान है और दुनिया के कई हिस्सों तक पहुंच सकता है।AGARBATI BUSINESS

अगरबत्ती में व्यवसाय शुरू करने के लिए बहुत अधिक प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इसे घर से भी स्थापित किया जा सकता है। अगरबत्ती की कई किस्में पाई जाती हैं, जिनमें से अधिकांश में चारकोल पाउडर होता है, और अन्य पाउडर का मिश्रण होता है, जिनका उपयोग रोजमर्रा के उपयोग के लिए किया जाता है। बेहतर प्रकार की अगरबत्तियों में, विभिन्न आवश्यक तेल, उच्च गुणवत्ता वाली सुगंध और एम्बर का उपयोग उन्हें बनाने के लिए किया जाता है।AGARBATI BUSINESS

अगरबत्ती निर्माण सुविधा स्थापित करने के तरीके Process for setting up agarbatti manufacturing unit

एक व्यावसायिक इकाई के पंजीकरण को इकाई को आरओसी (निगमों का रजिस्टर) के साथ पंजीकृत करने की आवश्यकता है। स्थानीय प्राधिकरण और कानूनी रूप से लागू करने योग्य परमिट से व्यापार लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आवेदन। जीएसटी पंजीकरण के साथ-साथ ट्रेडमार्क पंजीकरण भी आवश्यक है। अपने स्थान और पूंजी के अनुसार अगरबत्ती बनाने के उपकरण को स्थापित करने के लिए आवश्यक मशीनरी का पता लगाएं। बड़े पैमाने पर पंजीकरण के लिए, एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के लिए आवेदन करें, और छोटे पैमाने के लिए, एलएलपी या एकमात्र स्वामित्व के लिए आवेदन करें।AGARBATI BUSINESS

अतिरिक्त लाभ प्राप्त करने के लिए, आप एमएसएमई उद्योग आधार के लिए आवेदन करने के लिए आवेदन कर सकते हैं। उसके बाद, आपको एक खाता बनाना होगाI बड़े पैमाने पर विनिर्माण इकाई स्थापित करने के लिए प्रदूषण प्रमाण पत्र, कारखाना लाइसेंस और एनओसी भी आवश्यक है। छोटे पैमाने पर अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय 50000 से 80000 रुपये की पूंजी के साथ शुरू किया जा सकता है। बड़े पैमाने पर अगरबत्ती बनाने के व्यवसाय के लिए लागत लगभग 120000 रुपये से 150000 रुपये तक हो सकती है क्योंकि कच्चे माल, मशीनरी, कर्मचारी, बिजली और पैकेजिंग का खर्च अधिक होगा।AGARBATI BUSINESS

पतंजलि Patanjali स्टोर कैसे खोलें- पूंजी, आवेदन प्रक्रिया, कमाई की पूरी जानकारी in hindi

अगरबत्ती बनाने की मशीनरी- Machinery-

व्यवसाय को सफलतापूर्वक चलाने के लिए सही मशीनरी का चयन एक महत्वपूर्ण कदम है। उत्पादन क्षमता, लाठी के प्रकार और उपलब्ध पूंजी के संदर्भ में मशीनों का चयन करते समय विभिन्न कारकों पर विचार किया जाना चाहिए। अगरबत्ती मशीन इकाई स्थापित करने के लिए लगभग 100 से 250 वर्गफुट जगह की आवश्यकता होती है। 12 घंटे के लिए उत्पादन अगरबत्ती की औसत क्षमता स्वचालित के लिए लगभग 80 से 110 किलोग्राम और मैनुअल के लिए 12 घंटे के लिए प्रति दिन लगभग 60 से 80 किलोग्राम होगी।AGARBATI BUSINESS

BYAPAAR.IN

ऐसे 3 तरीके हैं जिनसे लाठी का निर्माण किया जा सकता है

1. मैनुअल अगरबत्ती बनाने की मशीन- इसमें सिंगल या डबल पेडल होता है जो अगरबत्ती बनाने में मदद करता है। यह शुरुआती उद्देश्यों के लिए सहायक है क्योंकि इसकी कीमत कम है और बिजली की आपूर्ति की आवश्यकता नहीं है। अच्छी गुणवत्ता की छड़ें भी बनाई जा सकती हैं। कच्चे माल को हाथों से बेलने के लिए लकड़ी के तख्ते का प्रयोग किया जाता है। साधारण हस्तचालित स्टील मशीनों की कीमत करीब 20000 रुपये हैIAGARBATI BUSINESS

2. हाई स्पीड स्वचालित अगरबत्ती मशीनें – यह 300 से 400 प्रति मिनट की सीमा में स्टिक्स का उत्पादन करती है। इसके लिए अधिक जनशक्ति की आवश्यकता नहीं है क्योंकि एक व्यक्ति मशीन को संचालित कर सकता है। इसके अलावा, लाठी की लंबाई और आसानी से 8 ”से 12” तक समायोजित की जा सकती है। हाई-स्पीड मशीनों की कीमत करीब 2 लाख है।AGARBATI BUSINESS

3. पूरी तरह से स्वचालित अगरबत्ती बनाने की मशीन – बड़े उत्पादन के लिए स्वचालित मशीनों का उपयोग किया जाता है। यह ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार कई अलग-अलग प्रकार के डिज़ाइन, विभिन्न आकार और पैटर्न तैयार करने में मदद करता है। यह प्रतिदिन 150 से 180 किलोग्राम उत्पादन करती है। यह मशीन बिजली की आपूर्ति पर चलती है और अधिक मात्रा में उत्पादन क्षमता प्रदान करती है।AGARBATI BUSINESS

बेहतर उत्पादन और गुणवत्ता में सुधार के लिए कई अन्य मशीनरी भी उपलब्ध हैं-

अगरबत्ती पाउडर मिक्सर मशीन- अगर इस मिक्सर की मदद से पाउडर (सूखा या गीला) को एक साथ आसानी से मिलाया जाता है तो मिक्सर का उपयोग विभिन्न प्रकार के मिश्रण से एक समान गुणवत्ता का पेस्ट बनाने के लिए किया जाता है। यह समय और श्रम प्रयास बचाता है। इस मशीन की क्षमता 10-30 किलो प्रति 10 मिनट है। यह आसानी से पेस्ट का मिश्रण बनाता है और उत्पादन उत्पादन अधिक होता है। कीमत करीब 40000 रुपये होगी।AGARBATI BUSINESS

सुखाने की मशीन- इसका उपयोग लाठी को आसानी से सुखाने के लिए किया जाता है। 8 घंटे की सिंगल शिफ्ट में इसकी उत्पादन क्षमता 150 किलोग्राम है। इस मशीन की सहायता से विभिन्न प्रकार की अगरबत्ती को आसानी से सुखाया जाता है। यह लगभग रु.0.5 से रु.0.8 प्रति किलोग्राम पर संचालित होता है जो वाणिज्यिक उत्पादन में मामूली लागत है। इसका उपयोग बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए किया जाता है बारिश के मौसम में ड्रायर मशीन बहुत उपयोगी होती है। सुखाने की मशीन की कीमत लगभग होगी। 30000 रु.AGARBATI BUSINESS

स्टिक बनाने की मशीन- लाठी को आवश्यक आकार और आकार के अनुसार बनाया जा सकता है।

अगरबत्ती मशीनरी खरीदने के लिए विभिन्न वेबसाइट- website

इंडियामार्ट। Indiamart.

व्यापार भारत। Trade India.

पंथी मशीनरी। Panthi machinery.

श्री हरि ट्रेडर्स। Shree hari traders.

अगरबत्ती निर्माण प्रक्रिया sticks manufacturing process

– पाउडर का मिश्रण-              Mixing of powder

अगरबत्ती बनाने की शुरुआत संरचना के अनुसार सभी चूर्णों को मिलाकर एक ठोस पेस्ट बनाने से होती है। चारकोल पाउडर, गोंद पाउडर और जिगत पाउडर (1 किग्रा) को पानी (600 मिली) के साथ अनुपात के अनुसार मिलाकर पेस्ट बन जाएगा। यहां पाउडर मिक्स मशीन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। पाउडर का उचित मिश्रण आवश्यक है क्योंकि अगर मिश्रण सही संरचना में नहीं होगा तो अगरबत्ती ठीक से नहीं जलेगी।AGARBATI BUSINESS

– अगरबत्ती बनाना-              Making Agarbatti

फिर पेस्ट को स्वचालित मशीनों की मदद से निर्धारित लंबाई के अनुसार विभिन्न छड़ियों पर लगाया जाता है या हाथों का उपयोग करके लकड़ी के तख्तों पर रोल किया जाता है। उसके बाद अगरबत्ती को सूखने के लिए छोड़ दिया जाता हैIAGARBATI BUSINESS

– सुगंध जोड़ना Adding fragrance

सुगंधित अगरबत्ती बनाने के लिए परफ्यूम और डीईपी को 1:4 के अनुपात में मिलाया जाता है। स्टिक्स को इस मिश्रण में डुबोया जाता है और सूखने के बाद यह अंतिम प्रक्रिया के लिए पैक करने के लिए तैयार हो जाएगा। सुगंधित अगरबत्तियों के लिए बटर पेपर बैग का उपयोग किया जा सकता है।AGARBATI BUSINESS

– अगरबत्ती की पैकेजिंग Packaging

अगरबत्ती में सुगंध को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए पैकेजिंग का उपयोग किया जाता है। पैकिंग एक पहलू है क्योंकि ग्राहक अच्छे, प्रीमियम सामग्री और आकर्षक पैकेट देखेंगे, इसलिए पैकेजिंग सामग्री का चयन करें। आप एक विशेष ब्रांड भी बना सकते हैं और अपने अनुकूलित ब्रांड बॉक्स में पैक कर सकते हैं। यह आपके ब्रांड की एक विशिष्ट पहचान बनाएगा।AGARBATI BUSINESS

अगरबत्ती की बिक्री Selling

 अगरबत्ती एक सुगंधित पाउडर है जिसका उपयोग फ्यूमिगेंट के रूप में किया जाता है। इसका उपयोग विभिन्न समुदायों द्वारा पूरे वर्ष घरेलू उद्देश्यों के लिए किया जाता है। स्थानीय बाजार जैसे जनरल स्टोर, दोस्तों, परिवार और थोक विक्रेताओं को मुफ्त नमूने देने पर विचार करना शुरू करने के लिए। यह एक पारंपरिक उत्पाद है जिसका उपयोग हर घर, मंदिरों में किया जाता है। ऑफलाइन के लिए स्थानीय बाजार जैसे अनंतिम स्टोर, मंदिर, इत्र की दुकानों और थोक व्यापारी के साथ शुरुआत करें। AGARBATI BUSINESS

साथ ही, Amazon, Flipkart और B2B जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म अगरबत्ती को सीधे अंतिम उपयोगकर्ता को आसानी से बेचने के लिए बहुत उपयोगी हैं। एक बार जब आप एक उचित ब्रांड बना लेते हैं, अच्छे दिखने वाले पैकेट भी, अपने उत्पादों की विभिन्न तस्वीरें प्रकाशित करते हैं और हमारे अगरबत्ती विवरण का विवरण जोड़ते हैं। आमतौर पर 8″ से 12″ इंच की बांस की छड़ी का उपयोग किया जाता है।AGARBATI BUSINESS

अब प्रश्न उठता है कि क्या अगरबत्ती व्यवसाय को लाभदायक बनाना है? Is it profitable?

चूंकि अगरबत्ती बनाने में लाभ मार्जिन लगभग 10 रुपये से 25 रुपये प्रति किलोग्राम है जो मशीनरी के उपयोग और बनाई गई छड़ों की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। प्रतिदिन 8 घंटे चलने वाली 1 अगरबत्ती स्वचालित मशीनों से औसत लाभ लगभग 800 रुपये होगा। इसलिए, 1 मशीन महीने में 25 दिनों को ध्यान में रखते हुए प्रति माह लगभग 20000 रुपये उत्पन्न कर सकती है।

मशीनों के बेहतर उपयोग और लाभ मार्जिन बढ़ाने के लिए कम से कम 3 मशीनें रखनी होंगी। 3 मशीनों के लिए प्रति माह लगभग 60000 – 80000 रुपये का लाभ होगा। अगरबत्ती में लाभ बढ़ाने के लिए बाजार और बिक्री को विकसित करने के बाद और अधिक मशीनें लगाई जा सकती हैं। सुगंधित और प्रीमियम अगरबत्ती के मामले में लाभ मार्जिन अधिक होगा।AGARBATI BUSINESS

बिंदुओं पर ध्यान देने की जरूरत है Important point

• बाजार से अलग नई खुशबू और विभिन्न पैटर्न विकसित करना। आप नई सुगंधित अगरबत्तियों का भी प्रयोग कर सकते हैं जो बाजार में नई हैं और आसानी से उपलब्ध हैं। यह आपके बाजार को बढ़ाएगी और बिक्री को आसानी से बढ़ाएगी।

• विपणन और प्रचार गतिविधियों के लिए एक निश्चित बजट निर्धारित करें क्योंकि यह अगरबत्ती बेचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

• ऑनलाइन बिक्री पर ध्यान दें क्योंकि वर्तमान में कई आसान डिलीवरी के कारण ऑनलाइन बिक्री को प्राथमिकता दे रहे हैं और कई किस्में उपलब्ध हैं। इसके अलावा, विभिन्न सोशल मीडिया पर अपने ग्राहक के साथ बातचीत।

• पहले अगरबत्ती की गुणवत्ता पर ध्यान दें उसके बाद मात्रा में।

अंतिम विचार

चूंकि अगरबत्ती बनाने के व्यवसाय को स्थापित करने के लिए अधिक निवेश और कम जोखिम की आवश्यकता नहीं होती है और पूरे वर्ष मांग रहती है। अगरबत्ती व्यवसाय को सफलतापूर्वक शुरू करने के लिए मशीनें महत्वपूर्ण पहलू हैं क्योंकि प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक है और मुनाफा बढ़ाने और अपने बाजार को आसानी से विकसित करने के लिए। मांग विश्लेषण के अनुसार मशीनरी का चयन करें। यदि आपके पास बिक्री में अधिक अनुभव है तो बड़े पैमाने पर प्रयास करें अन्यथा बाजार की स्थिति का विश्लेषण करने के लिए पहले मैन्युअल मशीनरी के साथ प्रयास करें।AGARBATI BUSINESS

फेसबुक पेज

यूट्यूब पेज

ट्विटर पेज

इंस्टाग्राम पेज

अस्वीकरण  – Disclaimer

यह जानकारी गैर-प्रचारक है, केवल किसी व्यवसाय और स्टार्ट-अप के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए बनाई गई है। किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले आपको खुद पर शोध करना चाहिए। यह जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। नए विचार 4 आप वीडियो में उल्लिखित जानकारी की सटीकता, सामग्री, वैधता या विश्वसनीयता के लिए जिम्मेदार नहीं हैं और किसी भी दायित्व को स्वीकार नहीं करते हैं। यह सब आपकी व्यावसायिक रणनीति और आपकी मेहनत पर निर्भर करता है। किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले आपको खुद पर शोध करना चाहिए।AGARBATI BUSINESS

1 thought on “अगरबत्ती का व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Agarbati Business in Hindi”

Leave a Comment